तानाशाह पति के जासूस ने मारा था थप्पड़; मीना कुमारी की लाइफ के 5 खौफनाक सच

बॉलीवुड की ‘ट्रेजेडी क्वीन’ मीना कुमारी (Meena Kumari) की 85वीं जयंती के मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर ‘पाकीजा’ की अभिनेत्री को याद किया है. मीना कुमारी को भले ही लाखों दर्शकों का प्यार मिला. लेकिन उनकी असल जिंदगी काफी दर्दभरी रही. मशहूर फिल्ममेकर और राइटर कमाल अमरोही से एक्ट्रेस ने शादी की, लेकिन शादी के बाद उनकी लाइफ में सिर्फ और सिर्फ दुख का साया रहा. विनोद मेहता की मीना कुमारी की जिंदगी पर आधारित किताब ‘मीना कुमारी: द क्लासिक बायोग्राफी’ में इसका जिक्र है. 18 साल की उम्र में मीना ने 34 वर्षीय कमाल अमरोही से गुपचुप शादी रचाई. जोड़ी का निकाह 14 फरवरी, 1952 को हुआ. शादी के बाद अमरोही ने मीना कुमार को एक्टिंग करने की इजाजत तो दी, लेकिन उनके आगे कई शर्ते भी रखीं. कहा जाता है कि अमरोही उनपर बेहद शक किया करते थे, इसी वजह से दोनों के रिश्तों में खटास आईं और कुछ सालों में ही मीना कुमारी की जिंदगी उजड़ गई. फिल्मों में कामयाब, मीना कुमारी की असल जिंदगी कष्टों से भरी थी. 1964 में कमाल अमरोही से अलग होने के बाद वह शराब के नशे में डूब गईं.
फिराक गोरखपुरी ने मीना कुमारी पर निकाला था गुस्सा, बोले- मुशायरे को मुजरा बना दिया…

शादी के बाद कमाल अमरोही ने शर्त रखी थी कि शूटिंग के दौरान मीना कुमारी के मेकअप रूम में मेकअप आर्टिस्ट के अलावा कोई नहीं जाएगी और वह शाम 6:30 बजे तक शूटिंग खत्म कर सीधे घर लौटेंगी. मीना कुमारी ने यह शर्त मान ली. लेकिन धीरे-धीरे वह अंदर से टूटती चली गईं.

‘साहिब बीवी और गुलाम’ के निर्देशन अबरार अल्वी के मुताबिक, अमरोही का असिस्टेंट बाकर अली, मीना कुमारी की जासूसी करता था. एक्ट्रेस के मेकअप के दौरान बाकर अली उनके मेकअप रूम में मौजूद रहता था.क्या शराब ने ली थी मीना कुमारी की जान? क्यों कहलाती थीं Tragedy Queen? खेलें Quiz

5 मार्च, 1964 को फिल्म ‘पिंजरे के पंछी’ के मुहुर्त के दौरान जब मीना कुमारी ने गुलजार को अपने मेकअप रूम में आने की इजाजत दी थी. तब कथित तौर पर बाकर अली ने एक्ट्रेस को थप्पड़ जड़ दिया था.

कहा जाता है कि सोहरब मोदी ने मीना कुमारी और कमाल अमरोही को एक पार्टी में महाराष्ट्र के गवर्नर से यह कहकर इंट्रोड्यूस कराया था कि, “यह बेहतरीन अदाकारा मीना कुमारी हैं और ये उनके पति कमाल अमरोही हैं.” सोहरब मोदी की बात बीच में काटते हुए तुरंत अमरोही बोल पड़े, “नहीं, मैं कमाल अमरोही हूं और ये मेरी पत्नी और शानदार एक्ट्रेस मीना कुमारी हैं.” ऐसा कहने के कुछ ही देर बाद अमरोही पार्टी में मीना कुमारी को अकेले छोड़कर निकल पड़े.

मीना कुमारी को अनिद्रा की बीमारी थी और वह नींद की दवाइयां लिया करती थीं. 1963 में उनके डॉक्टर ने उन्हें नींद के लिए ब्रांडी का एक छोटा पैग पीने की सलाह दी. यहीं से उन्हें नशे की लत लगी और शराब उनकी मौत का कारण बना. 1964 में पति अमरोही से अलग होने के बाद मीना कुमारी को शराब के नशे में खो गई. गम भूलाने के लिए वह शराब के नशे में डूबी रहती थीं. महज 38 साल की उम्र 28 मार्च, 1972 को उन्होंने दुनिया से अलविदा कह दिया.

Sharing is caring!

Leave a Comment