1965 इंडिया और पाकिस्तान युद्ध मे इस मुस्लिम ने किया कुछ ऐसा की थर थर कांपने लगी पाक सेना

1965 भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत बड़ा युद्ध हुआ था l इस युद्ध मे पाकिस्तान की सेना के पास ज्यादा बड़िया हथियार और टैंक थे l लेकिन फिर भी यह युद्ध भारत ही जीता था l इस युद्ध की जीत का ज्यादा श्रेय मुस्लिम आदमी अब्दुल हमीद को दिया गया l अब्दुल हमीद भारतीय सेना के कंपनी क्वार्टर मास्टर हवलदार थे l

अब्दुल हमीद का जन्म 1 जुलाई 1933 को उतर प्रदेश के गाजीपुर जिले मे स्थित धर्मपुर नाम के छोटे से गावों मे गरीब मुस्लिम परिवार मे हुआ l अब्दुल हमीद बचपन से ही बहुत ही साहसी और ईमानदार था l दिसम्बर 1965 को रात मे पाकिस्तान सेना द्वारा भारतीय सेना पर हमला करने पर, भारतीय सेना ने भी इस का मुकाबला करने के लिये खड़ी हो गयी l अब्दुल हमीद उस समय तरन तारण जिले के खेमकरण सैक्टर मे तैनात थे l तभी पाकिस्तान सेना ने अमेरिकन पैटन टैंको के साथ खेमकरण सैक्टर के गांव असल उताड़ मे हमला कर दिया l

भारतीय सैनिकों के पास कोई बड़ा हथियार नही था लेकिन भारत माता की रक्षा के लिये भारतीय जवान अपने सधारण हथियार थ्री नॉट थ्री रायफल, एल.एम.जी. के साथ पैटन टैंको का सामना करने के लिये निकल पड़े l अब्दुल हमीद के पास गन माउंटेड जीप थी जो की पैटन टैंको के सामने एक मात्र खिलोने जैसी थी l लेकिन अब्दुल हमीद ने अपनी होशियारी और निडरता से अपनी गन माउंटेड जीप से पाकिस्तानी सेना के 7 पैटन टैंक को नष्ट कर दिया l जिससे पूरी पाकिस्तानी सेना मे भगदड़ मच गयी l लेकिन इस बीच ही एक गोला अब्दुल हमीद की जीप पर लगा जिससे वह वीरगति को प्राप्त हो गये जिसके बाद भारतीय सेना ने जल्दी ही उनके सभी पैटन टैंको को नष्ट कर दिया l भारतीय सेना ने इस युद्ध मे जीत कर भारत का नाम ऊँचा किया है l

Sharing is caring!

Leave a Comment