सड़क पर जिंदगी गुजार रहे बच्‍चों की मदद के ल‍िए आगे आईं दीया मिर्जा, करने जा रही हैं ये काम

दीया मिर्ज़ा भारतीय सिनेमा की एक प्रमुख अभिनेत्री हैं. वह मिस एशिया पैसिफिक भी रह चुकी हैं। उनका जन्म ९ दिसम्बर १९८१ को हैदराबाद, आंध्र प्रदेश, भारत में हुआ। उन्होंने २ दिसम्बर सन् २००० को मनीला, फिलीपींस में “मिस इंडिया एशिया पैसिफिक” जीता। इसी पुरस्कार समारोह में उन्होंने दो और पुरस्कार भी जीते, “मिस ब्यूटीफुल स्माइल” एवं “द सोनी विऊअरज़ चोइस अवार्ड”।

उन्होनें अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत रहना है तेरे दिल में से की थी। इसमें उन्होनें माधवन के साथ काम किया था। हालांकि ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं हुई पर इस फिल्म का संगीत सफल रहा। इसके बाद उन्होने दीवानापन और तुमको न भूल पाएँगे में काम किया।

२००५ में दीया मिर्ज़ा ने विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म परिणिता में काम किया। २००६ में उन्होनें एक बार फिर विधु विनोद चोपड़ा की संजय दत्त के साथ लगे रहो मुन्ना भाई फिल्म में काम किया। उन्होनें सोनू निगम की म्यूजिक वीडियो “कज़रा मुहब्बत वाला” में भी काम किया। इसके बाद उनकी दस कहानियाँ, फाइट क्लब, अलग, हनीमून ट्रैवल्स प्राइवेट लिमिटेड और कैश जैसी असफल फिल्में आई।

अंतर्राष्ट्रीय स्ट्रीट चिल्ड्रन्स डे पर अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता दीया मिर्जा ने बुनियादी सुविधाओं और अधिकारों से वंचित बच्चों के लिए संघर्ष करने का वादा किया। दीया ने कहा, “मैं आप में से हरेक को आपका अधिकार दिलाने तक संघर्ष करूंगी। मुझे लगता है कि दुनिया को समझने की जरूरत है कि आप में से हरेक बच्चा कितना अतुल्य है और आप में कितनी प्रतिभा है। यदि आपको अवसर मिले तो आप चमक सकते हैं।”

दीया ने एक बयान में कहा, “सेव द चिल्ड्रन के साथ हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि आपके पास शिक्षा का अधिकार, स्वास्थ्य देखभाल का अधिकार और अवसर का अधिकार हो। मैं हरेक अदृश्य को दृश्यमान बनाने का वादा करती हूं।”

कल्याणकारी कार्यक्रम के हिस्से के रूप में अगले महीने लंदन में सड़क के बच्चों के लिए अपने तरह का पहला क्रिकेट टूर्नामेंट आयोजित किया जाएगा। लंदन में होने वाले द स्ट्रीट चिल्ड्रन वर्ल्ड कप का उद्देश्य विभिन्न देशों के लोगों को स्पोर्ट के जरिए एकजुट करना है।

Sharing is caring!

Leave a Comment