Mall में पेपर बैग के लिए पैसे ऐंठने वाली कंपनियों! Bata पर Rs 9000 का Fine लग गया है

चंडीगढ़ उपभोक्ता फोरम ने ग्राहक से पेपर बैग के लिए 3 रुपये अतिरिक्त वसूलने पर बाटा इंडिया लिमिटेड के उपर 9 हजार रुपये का जुर्माना लगया है। कंपनी द्वारा यह दलील दिया गया था कि पेपर बैग के लिए 3 रुपये का चार्ज पर्यावरण सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किया गया था, जिसे खारिज करते हुए कोर्ट ने कहा, “यदि बाटा इंडिया पर्यावरण कार्यकर्ता है तो इसे शिकायतकर्ता को बैग मुफ्त में देना चाहिए था।” साथ ही फोरम ने कंपनी से सामान खरीदने वाले सभी ग्राहकों को मुफ्त में कैरी बैग देने का निर्देश दिया है।

मामला क्या है

दिनेश प्रसाद रतूड़ी ने 5 फरवरी को चंडीगढ़ के सेक्टर 22D में बाटा स्टोर से जूता खरीदा. स्टोर ने उन्हें 402 रुपए का बिल थमा दिया. इस बिल में पेपर कैरी बैग के 3 रुपए का बिल भी शामिल था. पेपर बैग पर बाटा अपने ब्रांड का प्रचार कर रहा था. अब ये बात दिनेश प्रताप को अच्छी नहीं लगी. उन्होंने अपने तीन रुपए वापस मांगे. लेकिन स्टोर से 3 रुपए वापस देने से इनकार कर दिया. फिर क्या था. दिनेश कंज्यूमर फोरम चले गए.

कंज्यूमर फोरम में दिनेश ने तर्क दिया कि जिस कैरी बैग के पैसे मुझसे लिए जा रहे हैं उस पर बाटा की ब्रांडिंग है। बाटा स्टोर का तर्क था कि पर्यावरण को बचाने के लिए हमारे द्वारा पेपर कैरी बैग का यूज किया जा रहा है। कंज्यूमर फोरम ने कहा कि यदि बाटा पर्यावरण एक्टविस्ट है तब बैग के पैसे क्यों लिए जा रहे हैं। ये बैग कस्टमर को फ्री देना चाहिए। फोरम ने दिनेश से गलत तरीके से लिए गए 3 रुपए लौटाने के साथ उसे 3000 रुपए मुआवजा, 1000 रुपए मुकदमा का चार्ज और 5000 रुपए उपभोक्ता कानूनी सहायता खाता में जमा कराने को कहा। इस तरह 3 रुपए नहीं लौटाने के चलते बाटा स्टोर को 9000 रुपए देने पड़े।

आप भी जा सकते हैं कंज्यूमर फोरम

यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तब आप भी कंज्यूमर फोरम जा सकते हैं। इस बारे में हाईकोर्ट एडवोकेट संजय मेहरा ने बताया कि ऐसी किसी स्थिति में ग्राहक जिला कंज्यूमर फोरम में सेक्शन 12 उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम में केस लगा सकता है। इस अधिनियम में ग्राहक को दी जाने वाले सेवा में त्रुटि का होना है। यदि आप वकील नहीं करना चाहते तब एक आवेदन के साथ 10 रुपए के स्टाम्प पर शपथ पत्र दे सकते हैं। डिसमें केस से जुड़े फैक्ट, एविडेंट और बिल लगाने होते हैं। इसके आधार पर सामने वाले को फोरम की तरफ से नोटिस जाता है।

Sharing is caring!

Leave a Comment