एक गलती की वजह से 12 वर्ष के लिए अलग हो गए थे कृष्ण और रुक्मिणी

एक गलती की वजह से 12 वर्ष के लिए अलग हो गए थे कृष्ण और रुक्मिणी

जो लोग द्वारका स्थित श्री कृष्ण के मंदिर गए हैं उन्हें यह अवश्य ज्ञात होगा कि द्वारकाधीश के मंदिर में उनके साथ उनकी पत्नी, उनकी अर्धांगिनी रुक्मिणी विराजित नहीं है। अवश्य ही ये सवाल आपके मस्तिष्क में आया भी होगा कि ऐसा क्यों? परंतु शायद आपने ज्यादा जानने की कोशिश भी ना की हो। खैर आज हम आपको एक ऐसी कथा सुनाने जा रहे हैं, जो स्वयं आपके इस सवाल का जवाब है। कथा के…

Read More

अमिताभ बच्चन के घर हुई थी सोनिया और राजीव की सगाई

अमिताभ बच्चन के घर हुई थी सोनिया और राजीव की सगाई

जब इंदिरा गांधी ने जब पसंद कर लिया तो 13 जनवरी 1968 को पहली बार सोनिया दिल्ली आईं.बतौर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को लगा कि बगैर शादी के किसी लड़की को घर में रखने की इजाजत परंपराएं नहीं देतीं. देश के बड़े राजनीतिक परिवार से मामला जुड़ा होने के कारण इंदिरा किसी तरह का सवाल उठने नहीं देना चाहतीं थीं. वह शादी तक सोनिया को किसी होटल में ठहराने की सोच रहीं थीं. यह समस्या इंदिरा…

Read More

रावण के अंत के बाद जब सीता से मिलने आई थी शूर्पनखा

रावण के अंत के बाद जब सीता से मिलने आई थी शूर्पनखा

यूं तो रावण का अहंकार, उसका लालच ही उसके अंत के लिए जिम्मेदार है लेकिन अगर उसकी बहन शूर्पनखा को भी असुर सम्राट के विनाश का कारण कहा जाए तो शायद ही कोई इस बात को नकार पाएगा। शूर्पनखा ही राम-रावण युद्ध का मुख्य कारण थी।यूं तो राम-रावण युद्ध से संबंधित घटनाओं से जुड़ी बहुत सी कहानियां हम कई बार सुन चुके हैं और जाहिर तौर पर आगे भी सुनते रहेंगे लेकिन एक कहानी ऐसी…

Read More

चाणक्य: मां के गर्भ में ही निर्धारित हो जाती हैं संतान से जुड़ी ये 4 बातें

चाणक्य: मां के गर्भ में ही निर्धारित हो जाती हैं संतान से जुड़ी ये 4 बातें

भारत की जमीन ने कई ऐसे महानुभावों को जन्म दिया है, जिनका नाम ना सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी सदियों से प्रचलित है। दुनिया की प्राचीनतम संस्कृति वाले देश भारत में जितने भी लोगों ने जन्म लिया उनका लगभग हर क्षेत्र में आधिपत्य रहा है, जिसमें परंपरागत क्षेत्र जैसे धर्म और अध्यात्म तो शामिल हैं ही| लेकिन साथ ही साथ जिन्हें अकसर मॉडर्न युग की देन समझ लिया जाता है उस पर भी बहुत…

Read More